Bawaseer Ka Ayurvedic ilaj – Bawaseer Ka Gharelu ilaj Kaise Kare

Bawaseer (बवासीर) की एक मलाशय में होने बाला रोग है, जिसमें बहुत दर्द होता है। बवासीर के रोगियों के लिए इसका दर्द असहनीय होता है। आम और जानलेवा होने पर भी यह एक बीमारी है। गंभीर बीमारी होने के बावजूद लोग इसके बारे में बात करने से बचते नजर आते हैं।

बवासीर क्या है? Bawaseer kya hota hai in Hindi

बवासीर दो प्रकार की होती है, पहली आंतरिक और दूसरी बाहरी। इसे आमतौर पर खूनी और बादी बवासीर भी कहा जाता है और कुछ जगहों पर इसे महेशी भी कहा जाता है। बवासीर के लक्षणों को पहचानना बहुत ही आसान है।

इससे शौच के दौरान असहनीय दर्द, रक्तस्राव या मलाशय में खुजली होने लगती है। हालाँकि, बवासीर को ठीक नहीं किया जा सकता है। यदि आहार और घरेलू उपचार से समस्या को दूर किया जा सकता है, और यदि समस्या लंबे समय तक बनी रहती है, तो डॉक्टर की सलाह से बवासीर का इलाज किया जाता है।

यहाँ और पढ़ें : kamar-dard-ka-gharelu-ilaj-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : mala-n-tablet-in-hindi

बवासीर के लक्षण क्या हैं? Symptoms of Bawaseer Hindi

बवासीर ज्यादातर मामलों में चोट नहीं पहुंचाता है। लेकिन, अगर यह रक्त के थक्के का रूप ले लेता है, तो यह बहुत दर्दनाक हो सकता है। कुछ लक्षण इस प्रकार हैं:

  • मलाशय से दर्द रहित लाल रक्त निकलना
  • मलाशय में खुजली
  • मलाशय दर्द खासकर जब आप बैठे हों
  • शौच के दौरान दर्द
  • मलाशय के पास एक या एक से अधिक सख्त गांठ का बनना

अधिकांश बवासीर गंभीर नहीं होते, हालांकि दर्द हो सकता है। लेकिन, यह कुछ ही दिनों में अपने आप ठीक हो जाता है। यदि आप इसके कारण होने वाले दर्द को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं, तो डॉक्टर के पास जाएँ।

गंभीर मामलों में डॉक्टर बवासीर में मौजूद रक्त के थक्कों को हटा देते हैं। जिससे दर्द भी कम हो जाता है। इन बवासीर का घरेलू उपचार सबसे अच्छा इलाज है।

बवासीर कितना प्रकार होता है?

(1) खूनी बवासीर

खूनी बवासीर में दर्द नहीं होता है। मल में केवल खून होता है। शुरुआत में खून सिर्फ खाने के साथ आता है। लेकिन बाद में खून बहना धीरे-धीरे बढ़ जाता है।

(2)  बादी बवासीर

बवासीर के रोगी का पेट हमेशा खराब रहता है। अक्सर लोगों को एहसास होता है कि बवासीर पेट की ख़राबी के कारण होता है, हालाँकि यह सच नहीं है। रोगी को हमेशा कब्ज की समस्या रहती है। इसके साथ ही जलन, दर्द, खुजली, बेचैनी भी बनी रहती है।

 बवासीर के कारण

बवासीर के घरेलू उपचार के बारे में जानने से पहले इसके कारणों और लक्षणों को जानना जरूरी है। बवासीर के कुछ कारण इस प्रकार हैं-

  • शौच के दौरान तनाव
  • कब्ज
  • लंबे समय तक बैठे रहना (विशेषकर शौचालय में)
  • सिरोसिस जैसी अन्य बीमारियां
  • गर्भावस्था के दौरान कब्ज के कारण
  • मोटापा
  • कम फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाना

बवासीर का इलाज कैसे करें? Bawaseer ka ilaj kaise Karen

बवासीर का इलाज सर्जरी और बिना सर्जरी दोनों तरह से किया जा सकता है। वहीं, बवासीर का इलाज घर पर ही किया जा सकता है। आपकी रसोई में ऐसी कई चीजें हैं जो इस बीमारी को ठीक कर सकती हैं।

बवासीर के घरेलू उपचार

(1) गर्म पानी से सिंचाई करें

डॉक्टर बवासीर के मरीजों को 15 मिनट तक गर्म पानी में बैठने और सेक करने की सलाह देते हैं। ऐसा आप दिन में कई बार कर सकते हैं। आप चाहें तो इस सेक को जब भी मल त्याग करें तो कर सकते हैं।

इसके लिए एक बड़े टब में हल्का गर्म पानी भरकर उसमें 15 मिनट के लिए बैठ जाएं। ऐसा करने से बवासीर के कारण होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है।

(2) कोल्ड कंप्रेस

बवासीर के लिए कोल्ड कंप्रेस सबसे महत्वपूर्ण उपचार है। बर्फ रक्त वाहिकाओं को संकुचित करने, सूजन को कम करने और आपको तुरंत दर्द से राहत दिलाने में मदद करेगी।

बर्फ को किसी साफ कपड़े में लपेटकर बवासीर पर लगाएं। ऐसा दिन में कई बार करें जब तक कि बवासीर खत्म न हो जाए।

(3) नारियल का तेल

नारियल का तेल एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर के रूप में कार्य करता है। नारियल का तेल लगाने से जलन और सूजन से छुटकारा मिल सकता है। कम परेशानी वाली बवासीर को भी नारियल तेल से ठीक किया जा सकता है।

यहाँ और पढ़ें : beauty-tips-for-face  ‎

यहाँ और पढ़ें : home-remedies-for-glowing-skin  ‎

(4)  Bawaseer Ka Ayurvedic ilaj एलोवेरा

एलोवेरा हर घर में आसानी से मिल जाता है। बायोमेड रिसर्च इंटरनेशनल के शोध के अनुसार, एलोवेरा बवासीर के घावों को बहुत जल्दी ठीक करता है।

इसके मलाशय मे लगाने से बवासीर के कारण होने वाली जलन, खुजली और सूजन में आराम मिलता है। तो एलोवेरा का इस्तेमाल बवासीर के इलाज में किया जा सकता है।

(5)  दबाएं नहीं

यदि आप मल त्याग करते समय तनाव करते हैं, तो आपके निचले मलाशय की नसों पर दबाव पड़ेगा और बवासीर की समस्या बढ़ जाएगी। इसके साथ ही इसे तब तक करें जब तक आपको शौच करने की इच्छा न हो। थोड़ी सी भी देरी होने पर मल सूख जाता है और बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है।

(6) स्नान

गर्म पानी से नहाने से भी बवासीर में आराम मिलता है। इस समस्या से बचने के लिए आपको विशेष स्नान करने की जरूरत है। इसके लिए नहाने के टब में गर्म पानी लें और कम से कम 15 से 20 मिनट तक बैठें ताकि आपके कूल्हे पानी में रहें।

ऐसा दिन में तीन बार करने से इस दौरान जलन से छुटकारा मिल सकता है। याद रखें, इसके बाद आपके शरीर को अच्छी तरह से पोंछ लेना चाहिए क्योंकि प्रभावित क्षेत्र में नमी से संक्रमण होने की संभावना अधिक होती है और यह समस्या बढ़ भी सकती है।

(7) बर्फ का प्रयोग करें

बवासीर के इलाज के लिए मलाशय पर आइस पैक लगाएं। यह दर्द और सूजन से राहत दिला सकता है। मल त्याग करने के बाद आप मलाशय में आइस पैक लगा सकते हैं। यह दर्द और सूजन से राहत दिलाता है। इसलिए बर्फ (आइस पैक) से बवासीर का इलाज क्या किया जा सकता है।

(8) सेंधा नमक और ग्लिसरीन

बवासीर में सेंधा नमक और ग्लिसरीन का प्रयोग भी फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए आप दो चम्मच ग्लिसरीन में दो चम्मच सेंधा नमक मिलाएं। फिर इसे बवासीर वाली जगह पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप इसे हर घंटे में दोहरा सकते हैं।

(9)  nimbu se bawaseer ka ilaj hindi

उच्च रक्तचाप वाले लोगों को नमक पसंद नहीं हो सकता है। उनके लिए नमक की जगह कथ्था बेहतर है। इस नींबू- कथ्था बवासीर का इलाज इस प्रकार किया जाना चाहिए:

  • नींबू को दो टुकड़ों में काट लें। बीज निकाल लें।
  • नींबू कद्दूकस किया हुआ कत्था नींबू के एक टुकड़े पर दबाएं और रात भर छोड़ दें।
  • इस नींबू के रस का सुबह सेवन करें।
  • कत्था रक्त वाहिकाओं को संकुचित कर देगा और रक्त प्रवाह को रोक देगा।

Bawaseer ka ilaj ke liea bayem (व्यायाम)

व्यायाम बवासीर का घरेलू उपचार है। कब्ज से छुटकारा पाने और नसों पर तनाव कम करने के लिए व्यायाम या योग का सहारा लें। ये समस्याएं लंबे समय तक बैठे या खड़े रहने के कारण हो सकती हैं।

व्यायाम आपको इससे छुटकारा पाने में मदद करेगा। मोटापा भी बवासीर का एक कारण है। लेकिन, जब आप व्यायाम करके अपना वजन कम करेंगे तो यह समस्या भी दूर हो जाएगी।

यहाँ और पढ़ें : weight-loss-tips-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : chia-seeds-in-hindi

Join Our Social Media

(1) : Facebook

(2) : Twitter

(3) : Pinterest

(4) : Quora

Leave a Reply

Your email address will not be published.