Flax Seed in Hindi – Alsi Seeds Benefit in Hindi

Flax seed in hindi – फ्लैक्स सीड्स(अलसी) को अंग्रेजी में Flax seeds के नाम से जाना जाता है। अलसी एक बीज है। यह दो प्रकार की होती है। यह भूरे और पीले या सुनहरे रंग का होता है। इसके बीज देखने में बहुत छोटे होते हैं।

लेकिन इसमें कई पोषक तत्व होते हैं। जो सेहत को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मदद करता है। इसके अलावा, इसमें कई औषधीय गुण हैं।

अलसी क्या है? Flax seeds in hindi

अलसी एक रेशेदार पौधा है जो समशीतोष्ण क्षेत्रों (जहाँ सर्दी और गर्मी समान होती है) में उगता है। इसके रेशों से दाल, रस्सियां, तंबू और मोटा कपड़ा बनाया जाता है। वहीं इसके बीजों का इस्तेमाल तेल निकालने के लिए किया जाता है।

इसका तेल बहुत गाढ़ा होता है। इसलिए, इस तेल का उपयोग मुख्य रूप से वार्निश, पेंट, साबुन और पेंट बनाने में किया जाता है। अलसी के बीज मुख्य रूप से भारत, अर्जेंटीना और अमेरिका में उगते हैं।

इसे हिंदी में (Flax Seed in Hindi)  तीसी या अलसी कहते हैं। वहीं, अंग्रेजी में इसे फ्लैक्स सीड के नाम से जाना जाता है।  इसमें बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं, यही वजह है कि इसे आयुर्वेद में एक मानी हुई औषधि माना जाता है।

यहाँ और पढ़ें : avocado-in-hindi-fayde-aur-nuksan-avocado-fruit-hindi

यहाँ और पढ़ें : blueberries-benefits-and-side-effects-in-hindi

अलसी के बीज के प्रकार – flax seeds in hindi name

अलसी के दो मुख्य प्रकार हैं। विशेषज्ञों के अनुसार इन दोनों प्रकार के ओमेगा-3 फैटी एसिड में पोषक तत्वों की उपस्थिति लगभग समान होती है।

  • सुनहरी अलसी (golden flaxseed)
  • भूरी अलसी (brown flaxseed)

अलसी के पोषक तत्व?

Flax Seed in Hindi में बहुत सारे कार्बोहाइड्रेट पोषक तत्व होते हैं। इसके अलावा विटामिन में फोलेट, नियासिन, पाइरिडोक्सिन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के शामिल हैं। .

अलसी के बीज को कैसे खाना चाहिए – अलसी कैसे खाएं?

याद रखें कि अगर आप कुछ अच्छा खाते हैं तो उसे सही तरीके से खाएं, जिससे आपको फायदा हो सके। अलसी का सेवन आपको कैसे करना चाहिए, यह जानना जरूरी है।

आप इसे कच्चा भी खा सकते हैं, लेकिन स्वाद बढ़ाने के लिए अलसी को 5 मिनिट तक भून लें. भुने हुए अलसी को ग्राइंडर में पीस लें। अब आप इस चूर्ण का एक चम्मच प्रतिदिन सेवन कर सकते हैं।

अलसी के क्या लाभ हैं?

Flax seeds Health Benefits in hindi –

सर्दी-खांसी से छुटकारा पाने के लिए : बदलते मौसम की वजह से लोगों को अक्सर सर्दी-खांसी की समस्या हो जाती है। अलसी का काढ़ा बनाकर उसका सेवन करें। क्योंकि अलसी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी होता है। जो सर्दी-खांसी जैसी समस्याओं को जल्दी ठीक करता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करना :  कोलेस्ट्रॉल कम होने से दिल स्वस्थ रहता है। रोजाना 2 चम्मच अलसी का सेवन करें। यह ओमेगा 3 और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। जिससे शरीर की ताकत बढ़ती है।

मधुमेह में :  मधुमेह रोगियों के लिए अलसी का सेवन फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद म्यूसिलेज फाइबर होता है। जो पाचन को नियंत्रित करता है और रक्त शर्करा को कम करता है। यह टाइप 1 शुगर को कम करता है।

Flax seeds benefits in hindi

इम्यून सिस्टम के लिए :  शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सबसे पहले शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना जरूरी है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए अलसी का सेवन करना चाहिए।

इसमें मौजूद विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं। जिससे व्यक्ति जल्दी बीमार नहीं पड़ता।

वजन कम करने के लिए :  आजकल लोग ज्यादा समय लैपटॉप पर काम करने में बिताते हैं। जिसके कारण व्यक्ति खाने-पीने पर ध्यान नहीं दे पाता है।

वजन बढ़ने लगता है और आप इसे नहीं जानते। ऐसे में अलसी का सेवन करना चाहिए। क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो वजन घटाने में मदद करता है।

रक्तचाप नियंत्रण :  जब व्यक्ति तनाव में होता है। ऐसे में उनका ब्लड प्रेशर बढ़ने लगा। जिससे दिल की समस्या होती है। ऐसे में अलसी का सेवन करना चाहिए। यह फाइबर, लिनोलिक एसिड, लिग्नान से भरपूर होता है। जो कम से कम रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

यहाँ और पढ़ें : kari-patta-khane-ke-fayde-aur-nuksan

यहाँ और पढ़ें : pimple-kaise-hataye-gharelu-nuskhe

अलसी के क्या नुकसान हैं?

अलसी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। लेकिन अलसी के कुछ नुकसान भी हैं। जिसे हम नज़रअंदाज नहीं कर सकते।

  • गर्भवती महिलाओं को अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए। यह बहुत गर्म है। जिससे शिशु को नुकसान हो सकता है या बच्चा गिर सकता है।
  • जिन लड़कियों को मासिक धर्म के दौरान अत्यधिक रक्तस्राव होता है उन्हें अलसी के सेवन से बचना चाहिए।
  • अगर किसी महिला को ब्रेस्ट कैंसर है तो उसे अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए। यह उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
  • जिन लोगों को अलसी से एलर्जी है। इसलिए उन्हें अलसी खाने से बचना चाहिए।
  • नए लोगों को अलसी लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से बात कर लें।

 अलसी को अधिक समय तक कैसे रखें

कई लोग सवाल करेंगे कि वे अलसी को कैसे और कब तक सुरक्षित रख सकते हैं। इसके बारे में हम आपको विस्तार से बता रहे हैं।

  • आप अलसी को एक एयर टाइट जार में भर कर रख सकते हैं, कसकर बंद करके फ्रिज में रख सकते हैं।
  • आप अलसी का पाउडर भी बनाकर किसी एयर टाइट कन्टेनर में भर कर फ्रिज में रख सकते हैं.
  • इसके अलावा, यदि आप FlexSeed खरीदने जाते हैं, तो इसकी पैकिंग तिथि और आप इसे कब तक उपयोग कर सकते हैं, इसकी जांच करें।
  • इसके अलावा, यदि आप अलसी का बहुत अधिक उपयोग या उपयोग नहीं करते हैं, तो उनके छोटे पैकेट खरीदने का प्रयास करें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न : flax seed in hindi

(1) : क्या कच्चा अलसी खाया जा सकता है?

हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि अलसी को पानी में भिगोकर कच्चे भोजन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि कच्चे अलसी में कुछ मात्रा में सायनाइड होता है। इसलिए आपको दो चम्मच से ज्यादा कच्चे अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए।

(2) :  क्या फ्लैक्स सीड्स मुँहासे ले सकता है?

जैसा कि हम आपको लेख में पहले ही बता चुके हैं कि अलसी त्वचा के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य लाभों के लिए भी फायदेमंद है। ऐसे में यह कहना ठीक नहीं होगा कि अलसी के सेवन से मुंहासे हो सकते हैं।

हां, यह माना जा सकता है कि कुछ विशेष परिस्थितियों में ऐसा हो सकता है। ऐसे में अलसी का सेवन बंद कर देना चाहिए और तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(3) : क्या अलसी के विकल्प में चिया सीड्स का उपयोग किया जा सकता है?

अलसी और चिया सीड्स में मौजूद ज्यादातर पोषक तत्व लगभग एक जैसे ही होते हैं। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि कुछ हद तक चिया सीड्स को अलसी के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।

(4) : अलसी कहां से खरीद सकता हूं?

आप इन्हें खरीदने के लिए ऑनलाइन ऑर्डर भी कर सकते हैं। आप किसी भी नजदीकी किराना स्टोर से अलसी खरीद सकते हैं।

(5) : क्या भुनी हुई अलसी ज्यादा फायदेमंद होती है?

अलसी के इस्तेमाल की बात करें तो इन तीन तरीकों को भूनने, पीसने और कच्चा इस्तेमाल करने की बात आती है। अलसी के इस्तेमाल से फायदे के तीन तरीके हैं, लेकिन अलसी को भूनना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

दरअसल भुनी हुई अलसी का फायदा यह है कि इसमें मौजूद सायनाइड जैसे हानिकारक तत्व खत्म हो जाते हैं।

FAQ : flax seed in hindi

(1) : अलसी को विभिन्न भाषाओं में क्या कहते हैं?

अलसी को स्पेनिश में सेमिलास डी लिनो, अरबी में बुधुर अल्किटन, तेलुगु में अवैसे गिंजालु, तमिल में बिदाई और कन्नड़ में अगासी के नाम से जाना जाता है।

(2) :  क्या अलसी पेट की चर्बी कम करने में मदद कर सकती है?

जैसा कि हम आपको लेख में पहले ही बता चुके हैं कि अलसी में डायटरी फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। यह फाइबर पाचन में सुधार करके शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद कर सकता है।

ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि अलसी प्याज की अतिरिक्त चर्बी को कम करने में भी मददगार हो सकती है।

(3) : अलसी गर्म या ठंडी?

अलसी गर्म होती है।

(4) : अलसी कैप्सूल सुरक्षित है?

Flex seed in hindi capsule की बात करें तो इसे डॉक्टर की सलाह पर ही लेना बेहतर होगा। घरेलू उपचार के रूप में अलसी के कैप्सूल की सिफारिश नहीं की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.