Cholesterol Kam Karne Ke Upay Kya Hai

Cholesterol kam karne ke ramban upay in hindi: वर्तमान में कुछ शारीरिक समस्याएं छाती जैसी हो गई हैं। जैसे ब्लड प्रेशर, शुगर, थायराइड, कोलेस्ट्रॉल आदि।

आज के एपिसोड में हम जानेंगे कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या के बारे में जो खासतौर पर आम और आम से खतरनाक हो गई है। कोलेस्ट्रॉल लीवर द्वारा निर्मित वसा है।

हमारे शरीर को ठीक से काम करने के लिए कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है। रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होने से कई बीमारियां घेर लेती हैं। तो आइए जानते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने के उपाय।

आपको पता होना चाहिए कि कोलेस्ट्रॉल हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। लेकिन बीमारियां तब शुरू होती हैं जब यह रक्त कोशिकाओं में जमा होने लगती हैं।

इस स्थिति में रक्त संचार बाधित होने लगता है और शरीर के सभी अंगों में रक्त पहुंचाने के लिए हृदय को पहले से अधिक जोर से पंप करना पड़ता है।

कोलेस्ट्रॉल क्या है?

Cholesterol  वसा जैसा मुलायम मोम जैसा पदार्थ है, जो हमारे शरीर में मौजूद लीवर में बड़ी मात्रा में बनता है। यह तैलीय है, पानी में अघुलनशील है और लिपोप्रोटीन कणों के रूप में रक्त के माध्यम से अन्य अंगों तक पहुंचता है।

कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार के होते हैं, कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL Cholesterol) को खराब माना जाता है और उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (HDL कोलेस्ट्रॉल) को अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है।

यह कई हार्मोन, कोशिका भित्ति निर्माण, विटामिन डी और पित्त लवण के उत्पादन को नियंत्रित करता है जो वसा के पाचन में सहायता करते हैं। कोलेस्ट्रॉल कुछ विटामिनों के चयापचय में भी भूमिका निभाता है।

80 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल शरीर द्वारा ही लीवर के माध्यम से बनता है और 20 प्रतिशत भोजन के माध्यम से शरीर में पहुंचता है।

मानव रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर 3.6 mmol/L से 7.8 mmol/L तक होता है। 6 mmol/l उच्चतम है और 7.8 mmol/l से ऊपर उच्च कोलेस्ट्रॉल माना जाता है। इसका उच्च स्तर दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कई गुना बढ़ा देता है।

Cholesterol ke Prakar in hindi

कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर की हर कोशिका की बाहरी परत में मौजूद होता है। यह लिपिड का हिस्सा है, जो शरीर के सुचारू कामकाज के लिए आवश्यक है। कोलेस्ट्रॉल पूरे शरीर में रक्त में लिपोप्रोटीन द्वारा ले जाया जाता है।

हम आम तौर पर दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानते हैं, एक अच्छा कोलेस्ट्रॉल और दूसरा खराब कोलेस्ट्रॉल। लेकिन मानव शरीर में मुख्य रूप से तीन प्रकार के कोलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं जो इस प्रकार हैं

  • Ldl cholesterol in hindi
  • Hdl cholesterol in hindi
  • Hdl cholesterol in hindi

Cholesterol Badhne ke Lakshan

कोलेस्ट्रोल किसी भी व्यक्ति में बढ़ सकता है और अगर समय रहते इसे ठीक नहीं किया गया तो यह जानलेवा भी हो सकता है। हमारे शरीर में भोजन को पचाने और अन्य कार्यों के लिए कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता होती है।

जब रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत अधिक बढ़ जाता है, तो शरीर में मौजूद रक्त वाहिकाएं बंद हो जाती हैं और वे बंद होने लगती हैं। ऐसे में शरीर को कई तरह की दिक्कतों का अनुभव होने लगता है।

हालांकि, रक्त परीक्षण के बिना, ऊंचा कोलेस्ट्रॉल अपने आप ही अनुभव किया जा सकता है। आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ रहा है या नहीं। तो आइए जानते हैं कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षणों के बारे में-

  • सांस लेने में कठिनाई
  • अंगों में झुनझुनी सनसनी
  • पैर में दर्द
  • उच्च रक्तचाप होना
  • पीठ दर्द
  • गर्दन में दर्द
  • पलकों पर पीली वृद्धि
  • अचानक वजन बढ़ना
  • कॉर्निया पर एक ग्रे रिंग
  • तेज धडकन
  • असामान्य दिल की धड़कन

Cholesterol Kam karne ke Upay in Hindi

एलोवेरा: 50 ग्राम एलोवेरा रोजाना खाली पेट लेने से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में मदद मिल सकती है।

धनिया पत्ती : धनिये के पत्तों को रात भर भिगो कर रख दें और सुबह पियें। भीगे हुए धनिये को भी चबाकर खाएं।

अंकुरित दालें: अंकुरित दालों को दिल का दोस्त कहना गलत नहीं है. रोजाना अंकुरित दाल खाने से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है। आप अपने दैनिक आहार में कम से कम आधा कप बीन्स जैसे राजमा, चना, मूंग, सोयाबीन और उड़द को सूप, सलाद या सब्जी के किसी भी रूप में शामिल कर सकते हैं।

मेवे: नाश्ते में ओट्स खाना स्वस्थ दिन के लिए एक बेहतरीन शुरुआत है। हर सुबह 6 सप्ताह तक एक कटोरी दलिया खाने से एलडीएल 5.3% तक कम हो जाता है।

वाइन : वाइन पीने के शौकीन लोग अपने इमोशन्स को बरकरार रखते हैं. सप्ताह में दो बार थोड़ी सी रेड ग्रेप वाइन पीने से कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है।

ग्रीन टी: ग्रीन टी में कॉफी की तुलना में बहुत कम कैफीन होता है। साथ ही ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर को फिट और स्वस्थ रखते हैं। रोजाना ग्रीन टी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, जिससे खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करना आसान हो जाता है।

मछली: मछली खाने वालों के लिए कोलेस्ट्रॉल कम करना भी आसान होता है. दरअसल, हमारे शरीर को स्वस्थ फैटी एसिड और अमीनो एसिड की जरूरत होती है। शरीर को ऊर्जा और विटामिन डी प्रदान करने के अलावा, मछली स्वस्थ फैटी एसिड और अमीनो एसिड से भरपूर होती है, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में प्रभावी होते हैं।

सूखे मेवे: अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार सूखे मेवे खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि ये प्रोटीन, फाइबर और विटामिन-ई से भरपूर होते हैं। साथ ही सूखे मेवों में स्वस्थ फैटी एसिड भी पाए जाते हैं, जो रासायनिक रूप से होते हैं। यह संसाधित नहीं है और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत प्रभावी है। इसलिए अब रोजाना एक मुट्ठी सूखे मेवे खाएं।

मोटापा कम करता है: मोटापा उच्च कोलेस्ट्रॉल का एक प्रमुख कारण है। वजन बढ़ने से उच्च कोलेस्ट्रॉल का खतरा न बढ़ने दें। अधिक मोटापा उच्च कोलेस्ट्रॉल के साथ-साथ मधुमेह और उच्च रक्तचाप का कारण बनता है।

योग और व्यायाम करें: योग और व्यायाम के लिए वजन बढ़ाने का इंतजार न करें। योग रक्त परिसंचरण में सुधार करता है, हृदय रोग को रोकता है और प्रतिरक्षा को बढ़ाता है।006 कोलेस्ट्रॉल जो तारी को काम पर लाता है

कोलेस्ट्रॉल वाले व्यक्ति को सप्ताह में 5 दिन व्यायाम करना चाहिए। जॉगिंग, साइकिलिंग, स्विमिंग और एरोबिक्स भी कर सकते हैं।

अगर आप और कुछ नहीं कर सकते हैं तो रोजाना कम से कम आधा घंटा टहलें।

स्वस्थ भोजन: कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने के लिए वसा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों से बचें। वे कुछ भी खा सकते हैं जिसमें सभी पोषक तत्व हों। अंडे की जर्दी, जंक फूड, तला हुआ भोजन, फुल क्रीम दूध और रेड मीट से परहेज करें।

अधिक दवा लेने से बचें: चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही दवा का प्रयोग करें, दवा सुनने के बाद मनमाने ढंग से दवा न लें। साथ ही जीवनशैली में जरूरी बदलाव करके नशीली दवाओं की निर्भरता को दूर करने का प्रयास करें।

हर 6 महीने में कोलेस्ट्रॉल की जांच करना न भूलें। और 20 साल से अधिक उम्र के लोगों को हर 5 साल में एक बार टेस्ट करवाना चाहिए।

Cholesterol Kam Karne ki Exercise

सप्ताह में पांच दिन, लगभग 30 मिनट का एरोबिक व्यायाम करना, यानी चलना, दौड़ना, सीढ़ियाँ चढ़ना आदि बहुत ही बुनियादी व्यायाम, एचडीएल या उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल कोलेस्ट्रॉल) को केवल दो महीनों में 5 प्रतिशत तक बढ़ा देता है। . ऐसा करने में सक्षम।

यह एक प्रकार का अच्छा कोलेस्ट्रॉल है। वैसे भी, हर दिन 20-30 मिनट के लिए तेज चलने से कैलोरी बर्न होगी, कोलेस्ट्रॉल कम होगा और विषाक्त पदार्थ बाहर निकलेंगे।

Cholesterol Kam Karne ke Liye Yoga

हर बीमारी का इलाज, चाहे वह शारीरिक हो या मानसिक, योग में छिपा है। इतना ही नहीं बेहतर सेहत के लिए योग से बेहतर कुछ नहीं है।

योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार हो सकता है। तो आइए नजर डालते हैं कुछ ऐसे योगासनों पर जो आपके कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं-

  • भुजंगासन
  • उष्ट्रासन
  • मत्स्यासन:
  • सूर्य नमस्कार
  • धनुरासन:
  • नौका विहार

FAQ (सामान्य प्रश्न) Cholesterol Kam Karne Ke Upay :

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज क्या है?

उच्च कोलेस्ट्रॉल के मामलों में संतरे और अंगूर जैसे खट्टे फलों का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। इन सबके अलावा अगर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई है तो आपको रोज सुबह और शाम कुछ देर टहलना चाहिए। इसे कोलेस्ट्रॉल कम करने का सबसे रामबाण इलाज माना जाता है।

कोलेस्ट्रॉल जल्दी कैसे कम करें?

आज बहुत से लोग साबुत अनाज को कम कर देते हैं। इसे खाने से रक्त प्रवाह में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को कम करके एलडीएल के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। ब्राउन राइस, मूसली और क्विनोआ आपके दैनिक आहार में शामिल करने के लिए बहुत अच्छी चीजें हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में कितना समय लगता है?

Cholesterol Kam Karne Ke Upay: कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल टिप्स: सिर्फ 21 दिन तक रहेगा कंट्रोल, इन 5 क्रियाओं से मिलेगा कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल टिप्स किसी भी व्यक्ति के शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है, यह शरीर को तरह-तरह की बीमारियों से ग्रसित करने लगता है।

30 दिनों में कोलेस्ट्रॉल कैसे कम करें?

हल्दी वाला दूध जरूर पिएं। इमली के बीज खाएं- सबसे शक्तिशाली तत्व इमली के बीज जैसे ओमेगा 3 फैटी एसिड और लिनोलिक एसिड में पाए जाते हैं जो सीधे खराब कोलेस्ट्रॉल पर हमला करते हैं और बहुत प्रभावी होते हैं। इसलिए कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए आपको इमली के बीजों का सेवन जरूर करना चाहिए।

यहाँ और पढ़ें : Uric Acid Kam Karne Ke Upay – यूरिक एसिड क्या है?

Jukam Ko Thik Karne Ke Gharelu Nuskhe

Pet Dard Ke Gharelu Nuskhe In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.