SIP Kya Hai Hindi Aur Yah Kaise Kaam Karta Hai?

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान जिसे हम SIP कहते हैं। क्या आप एसआईपी के बारे में जानते हैं? यदि नहीं तो यहां सिर्फ आपके SIP क्या होता हैं और उसके फायदे कौनसे है। हम अपने पैसे को कैसे बढ़ा सकते हैं और SIP नुकसान क्या है?  बहुत कुछ इस आर्टिकल मै जानेगे।

म्यूच्यूअल फण्ड और एसआईपी को लेकर लोगों में कुछ भ्रांतियां हैं और बहुत अधिक अंधविश्वास भी है। इस पोस्ट में हम एसआईपी और म्यूचुअल फंड के बारे में आपकी सभी भ्रांतियों को बदल देंगे।

हर किसी को कहीं न कहीं थोड़ा बहुत पैसा बचाना होता है, जो जरूरत पड़ने पर काम आता है।

SIP शुरू करने के लिए कितने पैसे की जरूरत है

आप किसी भी प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड में मात्र 500 रुपये प्रति माह से एसआईपी शुरू कर सकते हैं। आप इस राशि को कभी भी निकाल और बढ़ा सकते हैं।

SIP खाते में निवेश कैसे करें

सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को तीन तरह से शुरू किया जा सकता है।

सबसे पहले और आसान तरीके से आप म्यूचुअल फंड एजेंट के जरिए SIP अकाउंट शुरू कर सकते हैं।

दूसरे प्रकार के तहत, आप एक स्टॉक ब्रोकर के साथ ऑनलाइन ट्रेडिंग खाता खोलकर ऑनलाइन म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं।

तीसरे प्रकार के तहत, आप सीधे योजना में निवेश कर सकते हैं, ताकि निवेशक म्यूचुअल फंड कंपनियों की वेबसाइटों पर जाकर सीधे म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकें। यह तरीका निवेशकों के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद है।  क्योंकि इसमें निवेशकों को कोई कमीशन देने की जरूरत नहीं होती है।  जिससे उनकी रिटर्न अपने आप बढ़ जाती है।

एसआईपी क्या है? – SIP kya hai hindi me

S.I.P. एक सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान है। जिसके तहत आप अपने थोड़े से पैसे को कुछ सालों तक एक ही जगह पर रखते हैं। ताकि आपको अच्छा रिटर्न मिल सके। S.I.P. आपको चक्रवृद्धि ब्याज देता है, जिससे आपका पैसा बहुत तेजी से बढ़ता है। जितना अधिक समय SIP किया जाएगा, उतना अधिक पैसा आपको मिलेगा। SIP आपको टैक्स से बचने में भी मदद करता है। (SIP) systematic investment plan in hindi.

SIP क्यों शुरू करें

एसआईपी शुरू करने के लिए बाजार में कई ऑनलाइन आप्लिकेशन हैं। आप किसी भी आप्लिकेशन पर जा सकते हैं और दो मिनट में अपना खाता खोल सकते हैं।

एक बार जब आप अपना म्यूचुअल फंड चुन लेते हैं, तो आप उसमें अपना पैसा निवेश कर सकते हैं। म्यूचुअल फंड चुनते समय, आपको इसके बारे में कुछ पता होना चाहिए जैसे कि इसकी रिटर्न रेटिंग और इसकी क्रेडिट रेटिंग । उस म्युचुअल फंड ने आपका पैसा कहाँ निवेश किया है?

SIP करने की लिए कोनसी कंपनी Best है

म्यूचुअल फंड क्या है? – Mutual Fund kya hai in hindi

एसआईपी के बारे में जानने से पहले, आपको म्यूचुअल फंड के बारे में जानना होगा। म्यूचुअल फंड क्या है? – म्यूचुअल फंड एक निवेश समकक्ष है जहां आप अपने पैसे का निवेश करके अच्छी रकम कमा सकते हैं।

म्यूच्यूअल फण्ड एक ऐसी जगह है जहाँ बहुत सारे लोग थोड़ा सा पैसा लगाते हैं। और एक फंड मैनेजर उस पैसे को उसी के अनुसार निवेश करता है। आपको भुगतान करता है।

Mutual Fund और SIP  के बीच महत्वपूर्ण अंतर – Difference between mutual fund and SIP in hindi

म्यूच्यूअल फण्ड एक ऐसी जगह है जहाँ आप अपना पैसा निवेश कर सकते हैं।अपने पैसे को कई गुना तक बढ़ा सकते हैं। एसआईपी म्यूचुअल फंड का एक हिस्सा है। SIP एक ऐसा तरीका है जिसका इस्तेमाल आप अपने पैसे को म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के लिए कर सकते हैं।

सबसे अच्छा SIP और Mutual Fund कौन सा है

  • Canara Robeco Blue-chip Equity Fund Direct Growth
  • Axis Midcap Direct Plan growth
  • UTI Flexi Cap Fund Direct Growth
  • Parag parikh flexi cap fund direct growth
  • Axis Bluechip Fund Direct Plan Growth
  • DSP Flexi Cap Fund Direct Plan Growth

यहाँ और पढ़ें : sukanya-samriddhi-yojana-kya-hai-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : best-term-insurance-plan-benefits-in-hindi

एसआईपी (SIP) का प्रकार

फ्लेक्सिबल सिप:  इस प्रकार के SIP के बारे में जानकारी आपके नाम से ही जानी जाती है। आप जिस राशि का निवेश करना चाहते हैं, उसके आधार पर यह एसआईपी योजना फ्लेक्सिबल है। इस एसआईपी में निवेशक अपनी नकदी प्रवाह की जरूरतों या प्राथमिकताओं के अनुसार निवेश की मात्रा को बढ़ा या घटा सकता है।

परपेचुअल सिप:  यह एसआईपी योजना आपको कई वर्षों तक निवेश जारी रखने की अनुमति देती है। आमतौर पर आप एसआईपी में 1 साल, 3 साल या 5 साल के लिए निवेश कर सकते हैं और उसके बाद फंड मैच्योर हो जाते हैं। इसलिए निवेशक निवेश किए गए पैसे को जब चाहे या अपने वित्तीय लक्ष्य के अनुसार निकाल सकता है।

टॉपअप सिप: इस प्रकार का SIP आपको समय-समय पर अपने निवेश की मात्रा को बढ़ाने की अनुमति देता है। जिससे आप एसआईपी में अधिक निवेश कर सकते हैं। जब भी आपके पास अधिक आय या निवेश राशि हो तो आप SIP में अधिक निवेश कर सकते हैं। इस प्रकार के SIP में आप बेहतरीन और उच्च प्रदर्शन वाले फंड में निवेश करके अधिकतम लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

SIP के फायदे और नुकसान

  • आप एसआईपी भुगतान से बच सकते हैं
  • अपनी बचत को और अधिक व्यवस्थित करें
  • आप किसी भी समय एसआईपी योजना को बंद कर सकते हैं
  • एसआईपी आपको चक्रवृद्धि ब्याज देता है
  • आप बहुत कम निवेश कर सकते हैं
  • अगर आपके पास ज्यादा पैसा है तो आप एक नया SIP शुरू कर सकते हैं
  • आपको बाजार के उतार-चढ़ाव के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है
  • पिछला प्रदर्शन

NAV in Hindi – एनएवी क्या है?

NAV Kya Hai: म्यूचुअल फंड के तहत SIP में निवेश NAV यानि (Net Asset Value) के हिसाब से करें। एनएवी यानी म्यूचुअल फंड की 1 यूनिट की वैल्यू शेयर बाजार में निवेश की कीमत के हिसाब से 1 शेयर।

इसी तरह म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश की शुरुआत 1 यूनिट से होती है। एनएवी यानी (नेट एसेट वैल्यू) हर बाजार में अलग-अलग होती है।

SIP उन लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है जो मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक छोटी राशि का निवेश कर सकते हैं, यहां तक ​​कि जिन्हें निवेश के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है।

यदि SIP को सरल भाषा में परिभाषित किया जाए तो SIP कम निवेश में अधिक लाभ प्राप्त करने का एक आसान तरीका है। जिसमें हम लंबे समय में ज्यादा बचत कर सकते हैं।

जब निवेशक अपने SIP में किस्त का भुगतान करता है। तो म्यूचुअल फंड फर्म आपको NAV के आधार पर निवेश के लिए चुनी गई योजना की इकाइयों में वर्गीकृत करती है।

SIP में जोखिम भी होते हैं, इस तरह आपको लंबे समय में लाभ कमाने का बेहतर मौका मिल सकता है। एसआईपी योजना सुनिश्चित करती है कि निवेशक बाजार में अच्छा लाभ कमाने का कोई मौका न चूकें।

निष्कर्ष

आज की हिंदी पोस्ट में हमने सीखा कि (SIP Kya Hai in hindi) SIP का fullfrom क्या है, SIP में निवेश कैसे करें? और साथ ही हमने SIP में निवेश करने के फायदे और नुकसान के बारे में जाना।

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारे ब्लॉग के माध्यम से SIP के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करें ताकि वे भी निवेश करने के इस बेहतरीन तरीके के बारे में जान सकें।

यहाँ और पढ़ें : ppf-account-kya-hai-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : goods-and-service-tax-kab-lagu-hua

Leave a Reply

Your email address will not be published.