Omicron Variant in Hindi – जानिए ओमिक्रोन कितना घातक है

Omicron Variant: भारत में आने वाले विदेशी यात्रियों के परीक्षण और स्क्रीनिंग को ओमिक्रोन वेरिएंट की शुरुआत के बाद से तेज कर दिया गया है। इस दौरान कर्नाटक और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों ने भी प्रवासियों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

वहीं, अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए संशोधित दिशा-निर्देशों के लागू होने के पहले दिन आठ लोगों की पहचान ओमिक्रोन से संक्रमित होने के रूप में हुई।  मिली जानकारी के मुताबिक ये सभी लोग ओमिक्रोन संक्रमित और हाई रिस्क वाले देशों से यात्रा कर भारत पहुंचे हैं।

WHO ने दूसरे देशों से मांगा डाटा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अन्य देशों से मरीजों की जानकारी मांगी है कि दुनिया भर में कितनी तेजी से Omicron Variant फैल रहा है। जिसके लिए इसका सबसे ज्यादा असर पड़ रहा है। ताकि उन्हें पता चले कि ओमिक्रोन मरीज पर कैसे असर कर रहा है।

भारत सहित कई देशों में लोग लगभग सामान्य जीवन जीने लगे कोरोना वायरस एक बार फिर स्वास्थ्य विशेषज्ञों के लिए चिंता का विषय बन गया है। आजकल, covid 19 Omicron Variant के एक नए रूप की व्यापक रूप से चर्चा हो रही है। जिसका नाम Omicron Variant है। इस रूप का वैज्ञानिक नाम बी.1.1.526 है।

कोरोना का यह नया रूप दक्षिण अफ्रीका में पाया गया है और इसे अत्यधिक संक्रामक माना जाता है। इसका एक कारण यह भी है कि अफ्रीका में वायरस का पता चलने के कुछ ही दिनों बाद हांगकांग, बेल्जियम, इज़राइल और यूनाइटेड किंगडम सहित कई और देशों में वायरस के मामले पाए गए।

इसके खतरों को देखते हुए भारत समेत कई देशों ने विदेश यात्रा को लेकर नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

ओमिक्रोन वेरिएंट कितनी तेजी से फैल रहा है?

ओमीक्रोन वायरस कितनी तेजी से फैल रहा है यह अभी पूर्ण रूप से स्पष्ट नहीं हुआ है। क्या Covid 19 से ज्यादा खतरनाक है। यह पूरी तरह स्पष्ट नहीं है। हालांकि, दक्षिण अफ्रीका में कई लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। लेकिन पक्का नहीं।

ओमिक्रोन के बारे में WHO ने क्या कहा?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक आधिकारिक बयान के अनुसार, ओमिक्रोन वेरिएंट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलने की क्षमता है और इसे ‘बहुत अधिक’ वैश्विक जोखिम का एक प्रकार माना जा सकता है।

WHO ने कहा, ओमीक्रोन नया कोविड वैरिएंट है। लेकिन यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि क्या यह अपने पूर्ववर्ती की तुलना में अधिक खतरनाक है। प्रारंभिक आंकड़ों से संकेत मिलता है कि दक्षिण अफ्रीका में अस्पताल में भर्ती बढ़े हैं।

लेकिन ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि पीड़ितों की संख्या बढ़ रही है। इस फॉर्म से दोबारा संक्रमण (कोरोना के दोबारा संक्रमण का खतरा) का खतरा बढ़ सकता है जैसा कि कुछ मामलों में बताया गया है। हालांकि, जानकारी अभी पूरी नहीं है। WHO ing ने कहा कि अभी भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि क्या ये भिन्न लक्षण अन्य प्रकारों से भिन्न है ।

Omicron Variant की गंभीरता?

तेजी से फैल रहा यह वायरस कितना घातक और खतरनाक है यह अभी स्पष्ट नहीं है। साथ ही इस बात पर भी शोध चल रहा है कि क्या यह कोविड और डेल्टा के अन्य रूपों से ज्यादा खतरनाक है।

वायरस कितना गंभीर है, इसका पता लगाने में हफ्तों लग सकते हैं। सभी प्रकार के COVID-19 और विशेष रूप से कमजोरों के लिए गंभीर बीमारी या मृत्यु का कारण बन सकते हैं। जिसके लिए सावधानी बरतने की जरूरत है।

भारत में ओमिक्रोन वेरिएंट का मामला सामने आया है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र के ठाणे जिले के डोंबिवली में एक दक्षिण अफ्रीकी व्यक्ति को कोविड से संक्रमित पाया गया था, लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं है कि वह ओमिक्रॉन वेरिएंट या किसी अन्य प्रकार से संक्रमित है या नहीं। इस व्यक्ति के नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए जांच के लिए भेजे गए हैं।

कोविड से संक्रमित लोगों के लिए ओमिक्रोन वेरिएंट कितना खतरनाक है?

अब तक की जांच से पता चला है कि Best Omicron Variant उन लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक है जो कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं। ये जल्दी ही लोगों को कोरोना से पकड़ सकते हैं।

Omicron Variant की वजह से कई देशों ने नियम बदले हैं

पिछले दो सालों में कोरोना वायरस से हुई तबाही को देखते हुए ज्यादातर देश नए कोविड ओमिक्रोन वेरिएंट को लेकर काफी सतर्क हो गए हैं। इस्राइल ने यहां विदेशियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है।

वहीं, मोरक्को ने सभी आउटबाउंड उड़ानों को 2 सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया है। वहीं, फिलीपींस ने अपने नियमों में बदलाव किया है, ताकि वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त करने वालों को अपने देश में प्रवेश करने की अनुमति मिल सके। वहीं, जापान ने भी विदेशी पर्यटकों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

टीका कितना प्रभावशील है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन इस समय वैक्सीन पर अपनी टीम के साथ काम कर रहा है। WHO के अनुसार, गंभीर बीमारियों के प्रभाव से बचाव के लिए टीकाकरण महत्वपूर्ण है। वर्तमान में डेल्टा मुख्य रूप से इसमें शामिल है। अभी जो वैक्सीन दी जा रही है वह कोविड के खिलाफ प्रभावी है।

यहाँ और पढ़ें : dolo-650-tablet-composition-dolo-650-mg-uses-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : Tthe-best-daily-routine-for-healthy-life-in-hindi

ओमिक्रोन वेरिएंट के कारण भारत में नई कोविड गाइड

भारत ने कोरोना वायरस ओमिक्रोन वेरिएंट के खतरों को समझते हुए विदेशी यात्रियों की आवाजाही के लिए दिशा-निर्देशों में भी कुछ बदलाव किए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी नए दिशानिर्देशों के अनुसार, भारत में 11 देश शामिल हैं – दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, बांग्लादेश, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग और इज़राइल और यूनाइटेड किंगडम जोखिम में हैं।

इन देशों के यात्रियों को भारत पहुंचने के बाद या भारत से कनेक्टिंग फ्लाइट लेने से पहले आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजरना होगा। इस परीक्षण में, जिन लोगों ने is Omicron Variant  संस्करण के लिए सकारात्मक परीक्षण किया, उन्हें परीक्षण नकारात्मक होने तक संगरोध में रहना चाहिए।

यदि कोई यात्री ओमिक्रोन के अलावा किसी अन्य प्रकार से संक्रमित पाया जाता है, तो चिकित्सक की सलाह के अनुसार उसका इलाज किया जाएगा या उसे क्वारंटाइन किया जाएगा।

इन सभी देशों के ऐसे लोग जो भारत में उतरने के बाद आरटी-पीसीआर टेस्ट में नेगेटिव पाए जाएंगे। उन्हें भी घर में सेल्फ क्वारंटाइन करना होगा और पहले टेस्ट के आठवें दिन दूसरा टेस्ट देना होगा। नतीजों के मुताबिक . सबसे ऊपर उन पर भी नियम लागू होंगे। साथ ही सभी यात्रियों को अपनी आखिरी 14 दिनों की ट्रैवल हिस्ट्री।

जनता को WHO की सलाह

  • ओमिक्रोन को रोकने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।
  • मास्क को पूरी तरह से नाक पर लगाना चाहिए। क्योंकि वायरस का प्रवेश द्वार नाक और मुंह है।
  • प्रत्येक आदमी के सात कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें।
  • खुले कमरे में बैठ जाएं।
  • भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें।
  • बार बार अपने हाथ साफ़ रखें।
  • छींकते या खांसते समय अपने टिश्यू का इस्तेमाल करें।
  • यदि कोई टीका नहीं लगा है, तो आपको टीका लगवाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.