V Wash Uses in Hindi

V Wash Uses: क्या आप वी वॉश का इस्तेमाल करते हैं? क्या आप इससे जुड़ी हर बात जानते हैं? वैजाइना को साफ करने के लिए वैसे ही वी वॉश का इस्तेमाल किया जाता है जैसे शरीर को साफ करने के लिए साबुन या बॉडी वॉश का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि आजकल ज्यादातर महिलाएं अपनी योनि को साफ करने के लिए इसका इस्तेमाल करती हैं, फिर भी कई महिलाएं हैं जो अपने जन*नांगों को साबुन से साफ करना उचित समझती हैं। हम आपको बता दें कि वी वॉश को खासतौर पर वेजाइना को साफ करने के लिए बनाया गया है। योनि शरीर का एक अत्यधिक संवेदनशील हिस्सा है जो स्नेहन और सनसनी पैदा करता है। पीएच स्तर को बनाए रखना बहुत जरूरी है। अगर यह ज्यादा बढ़ जाता है तो यह खुजली, अचानक डिस्चार्ज, सफेद डिस्चार्ज, सांसों की दुर्गंध, खुजली और जलन जैसी समस्याएं पैदा कर सकता है। इसलिए इसे साफ करना बहुत जरूरी है। ऐसे में वी-वॉश का इस्तेमाल करना सबसे अच्छा और सुरक्षित विकल्प माना जा सकता है।

 

What is V wash in hindi

वी वॉश एक विशेष स्वच्छता उत्पाद है जिसे विशेष रूप से महिलाओं के जननांगों को साफ करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जिसे ट्री ऑयल और मरीन बकथॉर्न ऑयल से बनाया जाता है।

 

यह योनि के पीएच स्तर को बनाए रखता है। जिससे खुजली, जलन और सूखेपन की समस्या नहीं होती है। कई डॉक्टर और विशेषज्ञ मानते हैं कि जननांगों में इसका इस्तेमाल पूरी तरह से स्वस्थ और सुरक्षित है।

 

How to use v wash Step by step in Hindi

अपने हाथ में वी वॉश की कुछ बूंदें लें।

वाल्व में वी वॉश लगाएं।

फिर सामान्य पानी से अच्छी तरह धो लें।

वी वॉश का इस्तेमाल दिन में एक बार ही करना चाहिए।

इसका उपयोग पीरियड्स के दौरान भी किया जा सकता है

इसका उपयोग केवल बाहरी रूप से किया जाना चाहिए।

धोने के बाद योनि को अच्छे से साफ करें।

इस तरह आप आसानी से वी वॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

V Wash का इस्तेमाल क्यों करें

वी वॉश योनि को साफ रखने और पीएच स्तर को बनाए रखने के लिए प्रयोग किया जाता है। एक स्वस्थ महिला की योनि का पीएच स्तर 3.5-4.5 के बीच होना चाहिए। महिलाओं के जननांगों में एक प्राकृतिक सुरक्षात्मक परत होती है जो प्राकृतिक रूप से अम्लीय होती है। जो संक्रमण से बचाता है और यह सुरक्षात्मक परत महिलाओं की योनि में हमेशा मौजूद रहती है।

 

लेकिन कई बार नहाने के दौरान इस्तेमाल किए गए पानी और साबुन के कारण यह परत टूट जाती है। इसका मुख्य कारण साबुन का उच्च पीएच स्तर है। ऐसे में वी वॉश के इस्तेमाल से पीएच लेवल को सही रखा जाता है। यह लैक्टोबैसिली के विकास को उत्तेजित करता है और हानिकारक बैक्टीरिया और संक्रमण की उपस्थिति को रोकता है, जो बदले में अन्य समस्याओं को रोकता है।

 

How to make V wash at home in Hindi

एक कप पानी में कैमोमाइल तेल की कुछ बूंदों से योनि को साफ करें।

एक कप पानी में टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदों से योनि को साफ करें।

योनि पर थोड़ा सा दही लगाएं और 30 मिनट के बाद इसे धो लें।

योनि को साफ करने के लिए आप ताजा एलोवेरा जेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

योनि को साफ करने के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करें।

 

Ingredients of V wash in hindi

मुख्य सामग्री

लैक्टिक एसिड 1.2 प्रतिशत w / v

अन्य अवयव

 

शुद्ध जल

ट्राइथेनोलामाइन लॉरिल सल्फेट

कोकामिडाप्रोपिल बीटािन

खूंटी-7 ग्लिसरिल कोक्वेट

फेनोक्सीथेनॉल और बेंजोइक एसिड और डीहाइड्रोएसेटिक एसिड

सोर्बिटोल

हाइड्रोक्सीप्रोपाइल सेलुलोज

पॉलीक्वाटियम -7 (पॉलीक्वेटियम -7)

खुशबू

हिप्पोफे रमनोइड्स (समुद्री हिरन का सींग) फलों का तेल

सोडियम हाइड्रॉक्साइड

टी ट्री ऑयल (मेलेलुका अल्टरनिफोलिया)

 

V Wash का उपयोग करने के क्या लाभ हैं?

महिलाओं को रोजाना अपने गुप्तांगों की सफाई करनी चाहिए। वी वॉश के इस्तेमाल से आप दिन भर सहज और तरोताजा महसूस करते हैं।

 

मासिक धर्म के दौरान भी वी-वॉश का इस्तेमाल सुरक्षित है।

वी वॉश योनि में खुजली और जलन को रोकता है।

वी वॉश योनि को साफ और स्वस्थ रखता है।

वी वॉश के इस्तेमाल से वी योनि की गंध को रोका जा सकता है।

V  Wash धोने से योनि का पीएच स्तर बना रहता है, योनि का पीएच स्तर 3.5-4.5 के बीच होना चाहिए।

 

वी वॉश का उपयोग करने के क्या नुकसान हैं?

वी वॉश का उपयोग वाल्व की बाहरी त्वचा को साफ करने के लिए किया जाता है, इसलिए इसे केवल बाहरी उपयोग के लिए उपयोग करें और फिर इसे अच्छी तरह से साफ करें।

 

वी वॉश का अब तक कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है।

 

हर किसी की त्वचा अलग होती है इसलिए किसी को भी किसी भी उत्पाद से एलर्जी हो सकती है।

 

वी वॉश का उपयोग करते समय ध्यान रखने योग्य बातें यहां दी गई हैं –

वाल्व धोने के लिए केवल पानी का प्रयोग करें

वाल्व को सुगंधित साबुन से न धोएं क्योंकि साबुन का पीएच स्तर 8 होता है।

योनि को बार-बार नहीं धोना चाहिए, योनि को दिन में 1-2 बार साफ करें।

संभोग के बाद अपनी योनि को साफ पानी से धो लें।

जननांगों से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए संभोग के दौरान कंडोम का प्रयोग करें।

टाइट अंडरवियर न पहनें

आपके अंडरवियर को रोजाना धोना चाहिए

सूती अंडरवियर जननांगों के लिए बहुत उपयोगी होता है।

समय-समय पर बेबी डायपर बदलें।

नए चूर्ण का प्रयोग जननांगों के आसपास करना चाहिए।

 

अंतिम शब्द

 

Using V-Wash” in Hindi में आज आप जानते हैं कि V-Wash क्या है और V-Wash का उपयोग कैसे करें। साथ ही और भी बहुत सारी जानकारी प्राप्त हुई। आशा है कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी, इसलिए इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। कृपया दोस्तों ताकि उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके

यहाँ और पढ़ें : Neurobion Forte Tablet Uses in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.