Tulsi Tea Benefits in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम तुलसी की चाय (Tulsi Tea) पीने से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी देंगे। आप जानते ही हैं कि तुलसी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है।

तुलसी के पत्तों के इस्तेमाल से होने वाले फायदे बहुत से लोग जानते हैं, लेकिन अभी भी कई ऐसे हैं जिन्हें इसकी जानकारी नहीं है।

बहुत से लोग तुलसी के पत्तों को इसके फायदे जाने बिना ही खाते रहते हैं। सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते खाने के कई फायदे होते हैं। आज के इस पोस्ट में आप उन फायदों के बारे में जानेंगे। कृपया पोस्ट को पूरा पढ़ें, पूरी जानकारी प्राप्त करें।

What Is Tulsi in hindi

तुलसी एक बहुत ही पवित्र पौधा है जो भारत के हर घर में उगता है। हिंदू भी तुलसी को देवी के रूप में पूजते हैं। तुलसी के पौधे में पूजनीय होने के साथ-साथ आयुर्वेदिक गुण भी होते हैं, जिसके फलस्वरूप हमारे आयुर्वेद में सदियों से इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता रहा है।

यहाँ और पढ़ें : Vestige Spirulina Capsules Benefits in Hindi

Tulsi tea benefits in Hindi

तनाव में असरदार

दैनिक जीवन में तनाव होना आजकल आम बात हो गई है। कभी घर के लोगों की वजह से, कभी काम की वजह से तो कभी भविष्य पर दबाव की वजह से। ऐसी स्थितियों में तुलसी की चाय बहुत कारगर होती है और तुरंत तनाव से राहत दिलाती है।

वजन कण्ट्रोल

तुलसी में कुछ ऐसे गुण होते हैं जो भोजन को बेहतर तरीके से पचते हैं। नतीजतन, आपका वजन नहीं बढ़ता है और आप नियंत्रण में रहते हैं।

दिल के लिए अच्छा

तुलसी के पत्तों में इओसोलिक एसिड और कई अन्य लाभकारी गुण होते हैं। इस कारण यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को जमा होने से रोकता है और इसे हमारी नसों में जमा होने से रोकता है जिससे दौरे पड़ने का खतरा कम हो जाता है।

सांस की बीमारियों में असरदार

तुलसी की चाय पीने से आपका गला और नाक पूरी तरह खुल जाता है। यह आपको स्वतंत्र रूप से सांस लेने की अनुमति देता है। अगर आप इसे अपनी रोजाना की चाय में शामिल करेंगे तो आपको हैरानी नहीं होगी।

सर्दी और फ्लू से राहत

तुलसी की चाय आपको सर्दी-जुकाम से काफी राहत देती है, इससे खांसी की ज्यादा समस्या नहीं होती है और आपका सिरदर्द भी ठीक हो जाता है।

Tulsi green Tea side effects in hindi

  • यूजेनॉल के स्तर को कम करता है, जो शरीर के लिए अच्छा नहीं है।
  • दवाओं के सेवन के बाद शरीर में शुगर की कमी हो जाती है।
  • गर्भवती महिलाओं को तुलसी की चाय पीने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • इसके खून को पतला करने वाले गुणों के कारण इसे ब्लड थिनर के साथ प्रयोग नहीं करना चाहिए।

तुलसी की चाय की रेसिपी

अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए आपको यह जानना होगा कि इसे ठीक से कैसे बनाया जाए। तुलसी की चाय के फायदे इस बात पर निर्भर करते हैं कि इसे कितनी अच्छी तरह बनाया गया है।

तुलसी की चाय के लिए आपको दो बड़े चम्मच तुलसी के पत्तों को पतले स्लाइस में काटने की जरूरत है, फिर उन्हें 5 से 10 मिनट के लिए एक पैन में पानी के साथ अच्छी तरह उबाल लें, इस तरह आपकी तुलसी की चाय बन जाती है।

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में मैंने तुलसी की चाय (Tulsi Tea) पीने के फायदे और नुकसान के साथ ही इसे बनाने की विधि के बारे में बात की है, उम्मीद है यह पोस्ट आपके ज्ञान को बढ़ाने में आपकी मदद करेगी।

यहाँ और पढ़ें : Multani Mitti Lagane Se Kya Hota Ha

Leave a Reply

Your email address will not be published.