Mutual Fund Kya Hota Hai Hindi – Types Of Mutual Fund

Mutual fund kya hota hai – अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने की सोच रहे हैं तो यह लेख आपके काम आएगा। यह माना जाता है कि शेयर बाजार में सीधे निवेश करने की तुलना में म्यूचुअल फंड निवेश करने का अधिक सुरक्षित तरीका है।

तो यह पोस्ट आपके लिए Mutual Fund kya hai in Hindi? म्युचुअल फंड का प्रकार? कौन सा म्यूचुअल फंड सही है, म्यूचुअल फंड में कैसे इन्वेस्ट करें, भारत का सबसे पुराना म्यूचुअल फंड कौन सा है, यह सारी जानकारी आपको मिल जाएगी।

तो, अंत में इस लेख Mutual fund kya hota hai in Hindi को पढ़िए और आसानी से म्यूच्यूअल फण्ड की जानकारी हिंदी में प्राप्त कर लीजिये।

ताकि आप और आपका पैसा दोनों सुरक्षित रहे और आपको म्यूच्यूअल फण्ड मे पैसे कैसे कमाए, भी इसकी पूरी जानकारी प्राप्त होगी।

म्यूचुअल फंड क्या है? Mutual fund kya hota Hindi

कुछ सालो में इस योजना का नाम सामने आया है और अब कई कंपनियां इस योजना का हिस्सा बन गई हैं। दरअसल, म्यूच्यूअल फण्ड का हिंदी में मतलब है म्युचुअल कैपिटल जहाँ एक से अधिक व्यक्ति शामिल हो सकते हैं।

शेयर बाजार का नाम तो आपने सुना ही होगा, दरअसल जिनके पास ज्यादा पैसा होता है वो शेयर बाजार में बड़ी रकम लगाकर पैसा तो कमाते हैं, लेकिन शेयर बाजार में 500 रुपये तक की छोटी रकम का निवेश नहीं कर पाते हैं।

व्यक्तियों से पैसे जमा करके बड़ी मात्रा में पैसा बनाता है और उसे शेयर बाजार में डालता है। इसलिए इसे एक से अधिक व्यक्तियों से धन एकत्रित करके शेयर बाजार में रख कर म्युचुअल फंड कहा जाता है।

बता दें कि शेयर बाजार में पैसा लगाना भी एक जोखिम भरा व्यवसाय है क्योंकि कोई नहीं बता सकता कि किसी कंपनी के शेयर की कीमत कब गिर जाए, इसलिए जो लोग शेयर बाजार में पैसा लगाते हैं, वे इस क्षेत्र में बहुत अनुभवी हैं, उनके पास अनुभव है।

जो शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव करता है। म्यूच्यूअल फण्ड के विज्ञापन के साथ एक टैगलाइन भी जुड़ी होती है कि अगर म्यूच्यूअल फण्ड सही है तो इसके पीछे एक कारण है क्योंकि इसमें बैंक से मिलने वाले ब्याज से ज्यादा फायदा होता है और इस पैसे को कभी भी निकाला जा सकता है।

म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं

आप यह भी जानना चाहेंगे कि म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं। आपको विज्ञापन से पता होना चाहिए कि आप इस योजना में कम से कम 500 रुपये का निवेश कर सकते हैं।

इसलिए इस फंड में कंपनियां अपनी छोटी राशि में कई लोगों से बड़ी रकम कमाती हैं और बड़ी कंपनियों की कंपनियां इस राशि में निवेश करती हैं। इसे खरीदने में निवेश करें और जो इन कंपनियों के विशेषज्ञ हैं, वे जानते हैं कि कोई स्टॉक कब कम या ज्यादा होने वाला है।

प्रभावित लोगों से एकत्र किया गया पैसा अलग-अलग कंपनियों के शेयरों में निवेश किया जाता है, इसलिए यदि एक कंपनी के शेयर गिरते हैं, तो ये लोग उस पैसे को दूसरी कंपनी के मुनाफे से वसूल करते हैं। जब पैसा वापस किया जाता है, तो ये कंपनियां अपने 2% से 3% शुल्क काटकर आपको भुगतान करती हैं।

इसके अलावा अगर आप सोचते हैं कि अगर आप आज 500 रुपये म्यूचुअल फंड में डालते हैं, तो आप अगले 2 या 3 दिनों में 1000 रुपये कमा सकते हैं, ऐसा नहीं होगा। अगर आप म्यूचुअल फंड में लंबे समय तक पैसा रखते हैं तो आपको फायदा होगा क्योंकि आपने जो पैसा लगाया है उससे आपको ज्यादा पैसा मिलेगा और पर्याप्त समय के बाद आपको काफी पैसा मिलेगा।

तो अब जब आप जान गए हैं कि म्यूचुअल फंड क्या है और यह कैसे काम करता है, अगर आप इसमें पैसा लगाना चाहते हैं, तो आप पैसा लगाने से पहले किसी भी कंपनी के ग्राहक से बात कर सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि कोई कंपनी कितने दिन बाद काम करती है। रिटर्न दे सकते हैं। तो इस तरह आप म्यूचुअल फंड फर्मों की तुलना भी कर सकते हैं।

यहाँ और पढ़ें : phonepe-loan-kaise-milta-hai-phonepe-personal-loan

यहाँ और पढ़ें : kreditbee-loan-kaise-le-in-hindi-kreditbee-loan-details

म्यूचुअल फंड के प्रकार

म्यूचुअल फंड विभिन्न प्रकार के होते हैं। इन्हें हम 2 खण्डों में बाँट सकते हैं। पहला प्रकार का म्यूचुअल फंड और दूसरा प्रकार का म्यूचुअल फंड एसेट।

(A) Types of Mutual Funds Based on Structure

  • Open ended mutual fund

ओपन एंडेड फंड्स – निवेशकों को इस प्रोजेक्ट में किसी भी समय फंड बेचने या खरीदने की अनुमति है। फंड खरीदने या बेचने के लिए इसकी कोई विशिष्ट तिथि या समय सीमा नहीं है।

ये फंड निवेशकों को तरलता प्रदान करते हैं, इसलिए निवेशक उन्हें पसंद करते हैं।

  • Close ended Mutual Funds

इस प्रकार की योजना की एक निर्धारित परिपक्वता अवधि होती है और निवेशक केवल फंड अवधि के दौरान ही फंड खरीद सकते हैं। और ये राष्ट्रीय कोष शेयर बाजार में शामिल हैं। बाद में इनका उपयोग व्यापार के लिए भी किया जाने लगा।

  • Interval Funds

इस प्रकार के म्यूचुअल फंड में दोनों ((open ended funds और close ended funds) होते हैं। इसमें दोनों निधियों के लाभ मूल्यवान हैं।

यह निवेशकों को पूर्व-निर्धारित ब्रेक पर फंडों का व्यापार करने की अनुमति देता है। और उस अवधि के दौरान धन का कारोबार किया जा सकता है।

यह संरचना के आधार पर म्यूचुअल फंड के प्रकारों के बारे में था, अब हम बात करेंगे कि संपत्ति के आधार पर कितने प्रकार के म्यूचुअल फंड स्वीकार किए जाएंगे।

(B) Types of Mutual Funds by Asset

  • Debt funds

डेब्ट फंड्स –  इस प्रकार के फ़ंड में निवेशक का जोखिम बहुत कम होता है। निवेशक डिबेंचर, सरकारी बॉन्ड और अन्य निश्चित आय में निवेश करते हैं जो एक सुरक्षित निवेश है।

  • Liquid Mutual Funds

लिक्विड फंड्स – निवेश के लिए यह एक सुरक्षित विकल्प है। लिक्विड फंड शॉर्ट टर्म डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करते हैं। इसलिए, यदि आप थोड़े समय के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो लिक्विड फंड पसंद हो सकते हैं।

  • Equity funds

इक्विटी फंड – अगर आप लॉन्ग टर्म प्रॉफिट पाना चाहते हैं तो इक्विटी फंड आपके लिए है। ये फंड शेयर बाजार में निवेश करते हैं। इस प्रकार के फंड में जोखिम भी होता है लेकिन इनसे मिलने वाला रिटर्न दूसरों की तुलना में अधिक होता है।

  • Money Market Funds

ये फंड निवेशकों को छोटी अवधि में उचित रिटर्न देते हैं। इसे सुरक्षित जगहों पर निवेश किया जाता है।

  • Balanced Mutual Funds

इस तरह की फंडिंग स्कीम में इक्विटी फंड और डेट फंड को मिलाजुला फायदा मिलता है। इस प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड में जमा किये गये फंड को इक्विटी और डेट दोनों में निवेश किया जाता है।

इस प्रकार का फंड एक तरफ निवेशकों की आय को स्थिरता देता है और दूसरी ओर वे आय की वृद्धि को भी तेज करते हैं।

इन फंडों के अलावा, विभिन्न प्रकार के फंड होते हैं लेकिन ये मूल और सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले फंड होते हैं।

म्युचुअल फंड में निवेश कैसे करें – How to Invest in Mutual Funds

म्यूचुअल फंड फर्म की वेबसाइट पर जाकर आप आसानी से निवेश कर सकते हैं। आप किसी म्यूचुअल फंड एडवाइजर की सलाह भी ले सकते हैं।

अगर आप डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश करना चाहते हैं तो आपको यह सुविधा वेबसाइट पर मिल जाएगी।

ये है सीधे प्लान में निवेश करने का फायदा, आप कोई कमीशन खर्च नहीं करेंगे, लेकिन उससे पहले आपको कुछ जरूरी जानकारियां इकट्ठी करने की जरूरत है।

अगर आप एंड्रॉइड मोबाइल फोन इस्तेमाल कर रहे हैं तो आप म्यूचुअल फंड ऐप्स की भी मदद ले सकते हैं! यह एक बहुत ही उपयोगी एप्लीकेशन है!

Disclaimer : बाजार जोखिम से संबंधित निवेश / व्यापार और म्यूचुअल फंड निवेश, योजना से संबंधित सभी दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ें।

यहाँ और पढ़ें : buddy-loan-se-personal-loan-kaise-le-buddy-loan-eligibility

यहाँ और पढ़ें : dhani-one-freedom-card-kya-hai-in-hindi

म्यूच्यूअल फंड के फायदे

  • Professional Management

यह म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा फायदा है। इसमें निवेश किया गया पैसा अच्छी जगह निवेश किया जाता है! बहुत सारी जानकारी एकत्र करने के बाद फर्मों द्वारा म्यूचुअल फंड का निवेश किया जाता है। ताकि समय-समय पर निवेश अच्छी तरह से बढ़ सके।

  • Diversification

म्यूचुअल फंड का एक अन्य प्रमुख लाभ विविधीकरण है। यानी विविधता! एक जगह पैसा लगाए बिना अलग-अलग जगहों पर निवेश करें। तो आप विभिन्न परियोजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।

  • Variety

म्युचुअल फंड का तीसरा प्रभावी लाभ आज ज्यादातर समय म्युचुअल फंड में उन लोगों के लिए विभिन्न योजनाएं उपलब्ध हैं जो अधिक रिटर्न चाहते हैं या कम समय में अधिक लाभ कमाते हैं।

अगर आप किसी खास सेक्टर में निवेश करना चाहते हैं, तो यहां आप अपनी जरूरत के हिसाब से कंपनी चुनकर निवेश शुरू कर सकते हैं।

  • Convenience

म्यूचुअल फंड में सुविधाजनक होना बहुत जरूरी है। आप अपनी सुविधा के लिए इसमें निवेश कर सकते हैं। आप पैसे भी कमा सकते हैं। आप ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद या बेच सकते हैं।

  • Affordable

कभी-कभी शेयर की कीमत अधिक होती है। आपकी इच्छा! कंपनी के शेयर नहीं खरीद सकती। म्यूचुअल फंड नहीं हैं!

थोड़े से पैसे से आप अच्छा निवेश कर सकते हैं। यहां कुछ समय के लिए टैक्स छूट भी मिलती है।

  • Tax Benefits

जब भी आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं। तो आपको टैक्स देना होगा। यहां टैक्स ब्रेक हैं। कुछ प्रकार के कार्य निधि पर कर नहीं देना होता है।

लेकिन जब कोई फर्म उच्च लाभ में जाती है, तो फर्म को कर कटौती नहीं मिलती है। टैक्स बेनिफिट्स की वजह से लोग म्यूचुअल फंड में ज्यादा निवेश करते हैं।

निष्कर्ष

आज के ब्लॉग में हमने सीखा कि Mutual Fund Kya Hota Hai Hindi, Types Of Mutual Fund। म्यूच्यूअल फण्ड कितने प्रकार के होते है ? म्यूचुअल फंड के क्या फायदे हैं?

साथ ही, हमने सीखा कि म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश किया जाता है। हमें उम्मीद है कि आपको म्यूचुअल फंड पर लेख पसंद आया होगा! और आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आई होगी।

यहाँ और पढ़ें : credit-card-kya-hai-aur-kaise-banwaye-benefits-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : kisan-credit-card-yojana-kya-hai-details-in-hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.