e-Rupi Kya Hai? Kaise Kaam Karta hai (Puri Jankari)

e-Rupi Kya Hai?  केंद्र में सरकार बदलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया पर जोर दिया। डिजिटल इंडिया अभियान शुरू किया गया था। डिजिटल पेमेंट पर भी उतना ही जोर दिया जा रहा है।

मोदी सरकार ने जितना हो सके कैशलेस लेनदेन किए बिना डिजिटल  लेनदेन पर जोर दिया। हालांकि हाल के साम्प्रतिक बताते हैं कि कोरोना की स्थिति में बैंकों या एटीएम के इस्तेमाल में कमी आ रही है।

डिजिटल लेनदेन पर लोगों की निर्भरता बढ़ी है। हालांकि कई मामलों में ग्राहक डिजिटल लेनदेन करते समय धोखाधड़ी के जाल में फंस रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद डिजिटल लेनदेन यानी Paytm, Phonepe, Google pay, मोबिक्विक के जरिए लेनदेन करने की प्रवृत्ति काफी बढ़ गई है।

Join this links

(1) Paytm                    

(2) PhonePe

(3) Google Pay

e-Rupi क्या है? e-Rupi Kya Hai in Hindi

ई-रूपी डिजिटल इंडिया के लिए एक और महत्वपूर्ण कदम है। e-RUPI एक UPI प्लेटफॉर्म है। इस प्रणाली के माध्यम से  उपभोक्ताओं के मोबाइल पर ई-वाउचर उपलब्ध होगा।

इस वाउचर को क्यूआर कोड और एसएमएस के जरिए डिलीवर किया जा सकता है। नकद के अलावा, ग्राहक संपर्क रहित लेनदेन और निर्बाध लेनदेन कर सकेंगे।

यदि आप इस प्रणाली की सदस्यता लेते हैं, तो आपको बार- बार ओटीपी या किसी अन्य चीज का लेनदेन करने की आवश्यकता नहीं है।

आपको डेबिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग खाते या किसी तीसरे पक्ष की भी आवश्यकता नहीं होगी। यह ई-रुपये प्रणाली बिना इंटरनेट बैंकिंग के पेश की जा सकती है।

e-Rupi कैसे काम करता है?

UPI प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हुए, भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payments Corporation of India)  इस e-RUPI डिजिटल लेनदेन समाधान प्रणाली के साथ आया है।

UPI तत्काल लेनदेन का एक संस्करण है। यह लेनदेन बैंक के माध्यम से दूसरे बैंक में करना संभव है। सेवा प्रदाता और खरीदार, यानी उपभोक्ता, बिना किसी स्पर्श के इलेक्ट्रॉनिक तरीके से पैसे का आदान-प्रदान कर सकते हैं। दोनों के बीच पैसों के लेन-देन के लिए किसी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं होगी।

यहाँ और पढ़ें : kyc-kya-hai-kyc-online-registration-kaise-kare

 e-RUPI के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

National Health Authority (राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण) के अनुसार, ई-रुपये में कुछ विशेषताएं हैं जिनका आम लोग आनंद उठा सकते हैं।

(1) कॉर्पोरेट के मामले में:

  • कॉर्पोरेट संगठनों में काम करने वाले कर्मचारियों को कंपनियां UPI प्रीपेड वाउचर दे सकती हैं।
  • इस लेनदेन के लिए किसी कार्ड या वाउचर की आवश्यकता नहीं होगी, जिससे लागत कम हो जाएगी।
  • वाउचर का उपयोग करने वाला कोई भी व्यक्ति वाउचर के बारे में सभी विवरण जान सकेगा।
  • उन कॉन्टैक्टलेस वाउचर का उपयोग करके लेनदेन बहुत जल्दी और सुरक्षित रूप से किया जा सकता है।

(2) अस्पताल के मामले में:

  • लेन-देन एक वेरिफिकेशन कोड का उपयोग करके किया जाना चाहिए, जो बेहद आसान और सुरक्षित है।
  • यह तब भी काम करता है जब आपके हाथ में कार्ड या कैश न हो, इसलिए लेन-देन में परेशानी कम होती है।

ग्राहकों के लिए क्या लाभ हैं?

  • किसी E-वाउचर को Print out के साथ रखने की आवश्यकता नहीं है।
  • लेनदेन केवल दो चरणों में किया जा सकता है।
  • यह प्रक्रिया ज्यादा सुरक्षित है। किसी ग्राहक की व्यक्तिगत जानकारी शेयर करने की आवश्यकता नहीं है।
  • आपको बस एक मोबाइल फोन और ई-वाउचर चाहिए, भले ही ग्राहक के पास बैंक खाता या लेनदेन ऐप न हो।

कौन कौन बैंक पहले से ही e-RUPI मेथड की पेशकश करते हैं

हालांकि e-RUPI को आधिकारिक तौर पर मोदी ने लॉन्च किया था, लेकिन कई बैंक पहले से ही यह सुविधा दे रहे हैं। बैंक राष्ट्रीय  स्वास्थ्य प्राधिकरण प्रणाली के माध्यम से इस प्रणाली का लाभ उठाते हैं।

जैसे स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक इस तरह से लेनदेन की सुविधा प्रदान करते हैं।

e-RUPI डिजिटल लेनदेन सोलुशन का उपयोग कहां किया जा सकता है-

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार यह सर्विस एक क्रांति है। इस सर्विस में कोई कमी नहीं होगी। यह सर्विस सभी मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य योजनाओं के लिए उपयोगी होगी।

आयुष्मान भारत योजना के तहत टीबी या इसी तरह की अन्य बीमारियों के इलाज के लिए उपलब्ध प्रणाली आसानी से उपलब्ध है। इस सर्विस के माध्यम से Fertilizer सब्सिडी भी मिलती है।

इतना ही नहीं निजी क्षेत्र भी इस सर्विस का लाभ उठा सकेंगे। यह सर्विस कर्मचारियों की भलाई के लिए महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष

आशा है कि आप समझ गए होंगे कि e-Rupi Kya Hai? e-Rupi kaise kam Kya Hai? सरकारी योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुंचाने की दृष्टि से ई-रुपया (e-Rupi) एक क्रांतिकारी पहल है।

लोगों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए ई-रुपये का उपयोग आसानी से किया जा सकता है, जिसके तहत विशिष्ट उद्देश्यों को पूरा करने के लिए धन या अनुदान दिया जाता है।

इसका उपयोग किसी निजी संगठन या किसी व्यक्ति द्वारा किसी उद्देश्य के लिए लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए किया जा सकता है। आपको हमें दी गई जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं।

यहाँ और पढ़ें : esim-kya-hai-kaise-kaam-karta-hai

यहाँ और पढ़ें : digilocker-kya-hai-digilocker-ka-matlab-kya-hota-hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.