Digital Currency Kya Hai in Hindi

इस पोस्ट में आपको Digital Currency kya hai in Hindi, क्रिप्टो करेंसी किसे कहते है, Digital Currency in India in hindi आदि के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की जा रही है|

डिजिटल करेंसी को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बड़ा ऐलान किया है। जहां आज से पहले हमारे देश में ज्यादातर कैश का इस्तेमाल कुछ भी खरीदने के लिए किया जाता था|

वहीं अब देश की मोदी सरकार ने भारत में डिजिटल करेंसी पेश कर लेन-देन के तरीके को डिजिटल कर दिया है। आरबीआई के डिप्टी गवर्नर टी रविशंकर ने कहा है कि केंद्रीय बैंक जल्द ही डिजिटल करेंसी जारी करेगा, जिसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं।

Digital Currency in India in hindi

आरबीआई ने बहुत पहले डिजिटल करेंसी की शुरुआत का संकेत दिया था। इसके अलावा, दुनिया के अन्य केंद्रीय बैंक भी अपने-अपने देशों में डिजिटल मुद्रा पेश करने की तैयारी कर रहे हैं। यह डिजिटल करेंसी क्रिप्टोकरेंसी से बिल्कुल अलग होगी।

इस डिजिटल करेंसी की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे आरबीआई द्वारा विनियमित किया जाएगा ताकि लोगों को अपना पैसा खोने का जोखिम न हो।

डिजिटल करेंसी क्या है in Hindi

यह डिजिटल करेंसी नकदी का एक इलेक्ट्रॉनिक रूप होगा, जिसे देश की सरकार द्वारा मान्यता दी जाएगी। यह मुद्रा केवल देश के केंद्रीय बैंक द्वारा जारी की जा सकती है। इसे देश के केंद्रीय बैंक की बैलेंस शीट में भी शामिल किया जाएगा।

इस डिजिटल करेंसी की खास बात यह है कि इसे सॉवरेन करेंसी में भी बदला जा सकता है और यह भारत का डिजिटल रुपया होगा। यह डिजिटल करेंसी दो तरह से होगी, पहला रिटेल और दूसरा होलसेल।

रिटेल डिजिटल करेंसी का उपयोग आम नागरिकों और कंपनियों द्वारा किया जाएगा, जबकि होल सेल डिजिटल करेंसी का उपयोग वित्तीय संस्थानों द्वारा किया जाएगा।

#1.  MoonBit Joining Link :

#2. Moon dogecoin Joining Link : 

#3. Moon Dash Coin Joining Link :

#4. Moon Litecoin Joining Link :

#5. moonbitcoin Cash Joining Link : 

#6. Bitfun Joining Link :

#7. Bonus bitcoin Joining Link : 

पॉपुलर डिजिटल करेंसी की लिस्ट

जिस तरह दुनिया भर में कई करेंसी हैं, सभी देशों के अपने-अपने नाम हैं, और उनके मूल्य अलग-अलग हैं। इसी तरह, कई प्रकार की डिजिटल करेंसी हैं, वे भी बहुत भिन्न हैं, तो आइए जानते हैं डिजिटल करेंसी के बारे में।

  • Libra
  • Ethereum
  • Bitcoin Cash
  • Litecoin
  • Zcash
  • Bitcoin

डिजिटल करेंसी का उपयोग कैसे करें

भारत की डिजिटल करेंसी (CBDC) – केंद्रीय बैंक द्वारा डिजिटल करेंसी के उपयोग का अभी खुलासा नहीं किया गया है। लेकिन मिली  जानकारी के मुताबिक ऐसा माना जा रहा है कि डिजिटल करेंसी आरबीआई-बैंक जारी करेगा तो आपको मिल जाएगा. उसके बाद, आप जिस व्यक्ति को भुगतान करना चाहते हैं, वह सीधे उनके खाते में क्रेडिट हो जाएगा।

इसमें कोई वॉलेट नहीं होगा और इसके लिए किसी बैंक खाते की आवश्यकता नहीं होगी। इसका उपयोग नकदी के रूप में किया जाएगा। फर्क सिर्फ इतना है कि यह तकनीक के जरिए डिजिटल रूप से काम करेगा। यह नकदी का इलेक्ट्रॉनिक रूप होगा।

What is Crypto Currency in hindi

क्रिप्टोकरेंसी- डिजिटल मुद्रा का एक रूप है। यह पूरी तरह से ऑनलाइन है, सिक्के या नोट के रूप में आपकी जेब में नहीं है। यह एक अवैध मुद्रा है। जो किसी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है, और न ही किसी सरकार या नियामक प्राधिकरण द्वारा जारी किया जाता है। यह व्यवसाय बिना किसी नियम के है।

डिजिटल करेंसी और क्रिप्टोकरेंसी के बीच अंतर

डिजिटल करेंसी और क्रिप्टोकरेंसी में सबसे बड़ा अंतर यह है कि डिजिटल करेंसी को उस देश की सरकार द्वारा मान्यता दी जाती है, यह देश के केंद्रीय बैंक द्वारा जारी किया जाता है।

तो यह पूरी तरह से जोखिम का मामला है। जारी करने वाले देश में इसका उपयोग खरीद लेनदेन के रूप में किया जाता है। इस करेंसी को सॉवरेन करेंसी यानी उस देश की करेंसी में बदला जा सकता है। इस तरह के लाभ एक ही क्रिप्टोकुरेंसी में उपलब्ध नहीं हैं।

क्रिप्टोकरेंसी के विपरीत, डिजिटल करेंसी के मूल्य में किसी भी तरह से उतार-चढ़ाव नहीं होता है, जबकि क्रिप्टोकरेंसी में उतार-चढ़ाव होता है, जिसका एक उदाहरण बिटकॉइन है। बिटकॉइन की कीमत में आपको काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा। डिजिटल करेंसी देश की केंद्र सरकार द्वारा जारी की जाती है, उसी क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है ।

यहाँ और पढ़ें : private-cryptocurrency-list-in-hindi-crypto-bill-2021

Digital Currency के लाभ (Advantage)

  • किसी भी वस्तुओं को डिजिटल करेंसी के माध्यम से घर पर खरीदा और बेचा जा सकता है।
  • यह सिक्का आपके वॉलेट में उपलब्ध है।
  • डिजिटल करेंसी में निवेश करने के बाद आप अपनी संपत्ति बढ़ा सकते हैं।
  • डिजिटल करेंसी का मूल्य बदलता रहता है।

Digital Currency के हानि (Advantage)

  • डिजिटल करेंसी के इस्तेमाल को अभी तक सरकार ने मान्यता नहीं दी है।
  • इसका उपयोग जोखिम के अधीन माना जाता है।
  • इस पर किसी एजेंसी का नियंत्रण नहीं है, इसलिए किसी भी तरह के घोटाले के लिए किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।
  • किसी भी प्रकार की क्षति के मामले में, पूरी जिम्मेदारी उपयोगकर्ताओं के पास होती है।

निष्कर्ष

यहां हमने Digital Currency Kya Hai in Hindi, लाभ, हानि, उपयोग के बारे में जानकारी दी है। यदि आपके पास इस जानकारी से संबंधित कोई प्रश्न हैं, या इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप टिप्पणियों के माध्यम से पूछ सकते हैं।

यहाँ और पढ़ें : bitcoin-ka-future-kya-hai-in-hindi

यहाँ और पढ़ें : elon-musk-dogecoin-in-hindi-tesla-ceo-elon-musks

Leave a Reply

Your email address will not be published.